ਹਲਦਵਾਨੀ ਵਿਚ ਪਤਨੀ ਦਾ ਜਿਸਮ ਦਿਖਾ ਕੇ ਪਤੀ ਕਰਦਾ ਸੀ ਜਿਸਮਫਰੋਸ਼ੀ ਦਾ ਧੰਧਾ , 5 ਕੋਲ ਗਰਲ ਦੇ ਨਾਲ ਪਤੀ ਗਿਰਫਤਾਰ

ल्द्वानी (चयन राजपूत) कुमाऊं का द्वार कहे जाने वाले हल्द्वानी में एक बार फिर सैक्स रैकेट पकड़ा गया. एक बार फिर से जिस्मफरोशी का घिनौना धंधा रिहायशी इलाको के बीचोबीच पनपता दिखा. पुलिस ने एक सप्ताह में 2 जगह सैक्स रैकेट का भांडाफोड़ा. पहला 23 मई को और दूसरा आज यानी 28 मई को. पुलिस के मुताबिक सैक्स रैकेट मुखानी के निशांत कॉलोनी में पकड़ा गया है. मुखानी क्षेत्र के लोगो के अनुसार सैक्स रैकेट काफी लंबे समय से चल रहा था और ये बात पुलिस को भी पता थी. कॉलोनी के लोग इस गंदे खेल से तंग आ चुके थे. जब सोमवार की शाम को पुलिस ने सैक्स रैकेट का भांडा फोड़ा. तब जाकर मुखानी क्षेत्र के लोगो को राहत मिली.

20 जुलाई 2017 को न्यूज टुडे नेटवर्क ने सैक्स रैकेट को लेकर एक खबर प्रकाशित की थी. जिस खबर के माध्यम से हमने शहर की पुलिस व हमारे पाठकों को इस तरह के मामलो में सतर्क रहने को चेताया था. लेकिन साल 2017 में न्यूज टुडे नेटवर्क की खबर को प्रशासन द्वारा तवज्जो न देकर इस तरह के घिरोह पर नकेल नहीं कसी गई. पुलिस प्रशासन की लापरवाही के कारण इस तरह के कई सैक्स रैकेट शहर में पनपने लगे. जिन्होंने शहर के बीचोबीच रहकर गंदगी का माहौल बनाया.

ये है 2017 वाली खबर- हल्द्वानी: शाम होते ही सजता है जिस्म का बाजार , क्यों है खामोश एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग सेल ?

कुमाऊं के द्वार में सैक्स रैकेट का भांडाफोड़ा न्यूज टुडे नेटवर्क ने 2017 में…

तब एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग सेल बिल्कुल ठप पड़ी हुई थी. न्यूज टुडे नेटवर्क ने खबर में ये भी प्रकाशित किया था कि अनैतिक देह व्यापार का काला खेल उधमसिंह नगर और नैनीताल जिले में एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग सेल की उदासीनता के चलते बड़ी तेजी से फलफूल रहा है. हमारे सूत्रों के मुताबिक हमें ये जानकारी मिली थी कि हल्द्वानी में काठगोदाम में, ऊंचापुल में, आरटीओ रोड में, लामाचौड़ में, बरेली रोड मंडी के पास कई इलाके अनैतिक देह व्यापार के गढ़ बनते जा रहे हैं.

2017 में किसी ने न्यूज टुडे नेटवर्क की खबर पर भरोसा नहीं किया था…

अब आया साल 2018, जब पुलिस और एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग सेल एक्टिव मोड में नजर आई. इस बार मामला मुखानी क्षेत्र के निशांत कॉलोनी का है जहां से एक दम्पत्ति अपने घर से ही इस तरह के घिनौने खेल को अंजाम देते थे. जानकारी मिलने पर काजल(संचालिका) और पति किशन सिंह को पुलिस ने रंगे हाथो पकड़ा. पुलिस के अनुसार कई बार किशन अपनी पत्नी के बारे में बताकर ग्रहाकों को आकर्षित किया करता था. छानबीन करने पर मौके से विमला चौधरी(20) पत्नी धानू निवासी कुष्ट आश्रम राजपुरा, रोशनी(25) पत्नी वीरेन्द्र निवासी कुल्यालपुरा भोटिया पड़ाव, कमला(24) पत्नी वीरेन्द्र आर्या निवासी भट्ट कालोनी मुखानी, सोमवती पत्नी प्रेमपाल निवासी निशान्त बिहार हीरानगर, विजय सिंह बिष्ट(28) पुत्र नारायण सिंह बिष्ट निवासी न्यू आवास विकास कॉलोनी को पकड़ा. वहीं मौके से पुलिस ने संदिग्ध सामान भी बरामद किया. पकड़े गए दम्पत्ति अभियुक्तों के खिलाफ पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही शुरू कर दी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *